https://www.workersunity.com/wp-content/uploads/2022/11/P-Sainath-book-The-Last-Heros.jpg
https://www.workersunity.com/wp-content/uploads/2022/11/friedrich engels.jpg

मार्क्स के वो अधूरे काम जिन्हें फ्रेडरिक एंगेल्स ने पूरे किए: जन्मदिवस पर विशेष

By मनीष आज़ाद फ्रेडरिक एंगेल्स की मृत्यु पर लिखते हुए लेनिन ने उन्हें ‘तर्क की शानदार मशाल और शोषितों के लिए धड़कने वाले बेमिसाल ह्रदय’ की संज्ञा दी थी। आज …

मार्क्स के वो अधूरे काम जिन्हें फ्रेडरिक एंगेल्स ने पूरे किए: जन्मदिवस पर विशेष पूरा पढ़ें
https://www.workersunity.com/wp-content/uploads/2022/11/Mundari-Azamgargh-protest.jpg

आज़मगढ़: मंदुरी एयरपोर्ट का विरोध जारी, ग्रामीणों ने कहा-‘जान देंगे, जमीन नहीं देंगे’

By रितेश विद्यार्थी उत्तर प्रदेश के आज़मगढ़ ज़िले में पिछले एक महीने (13 अक्टूबर 2022) से मंदुरी एयरपोर्ट को अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट बनाने के लिए किये जा रहे भूमि अधिग्रहण के …

आज़मगढ़: मंदुरी एयरपोर्ट का विरोध जारी, ग्रामीणों ने कहा-‘जान देंगे, जमीन नहीं देंगे’ पूरा पढ़ें

आखिर शेर क्यों दहाड़ता है?

By कबीर संजय जानते हैं, बादशाहत के साथ सबसे बड़ी दिक्कत क्या है। आपको हर वक्त लगता है कि यह खिसकने वाली है। जाने वाली है। आपका रुतबा, आपका गुरूर, …

आखिर शेर क्यों दहाड़ता है? पूरा पढ़ें
https://www.workersunity.com/wp-content/uploads/2022/11/Faiz-Ahmed-Faiz-poet.jpg

फ़ैज़ अहमद फ़ैज़: वो शायर जिनकी नज़्मों से आज के तानाशाह भी कांपते हैं…

By मनीष आज़ाद (भारतीय उपमहाद्वीप के सबसे रूमानी और क्रांतिकारी शायरों में फ़ैज़ अहमद फ़ैज़ (1911-1984) दर्जा सबसे ऊंचा है। एक ऐसा शायर जिसे जितनी शिद्दत से पाकिस्तान में याद …

फ़ैज़ अहमद फ़ैज़: वो शायर जिनकी नज़्मों से आज के तानाशाह भी कांपते हैं… पूरा पढ़ें
https://www.workersunity.com/wp-content/uploads/2022/11/Masa-rally-nov-13-2022-Ramlila-maidan-9.jpg

लेबर कोड, निजीकरण के खिलाफ़ दिल्ली में देशभर के मज़दूरों का विशाल प्रदर्शन

मज़दूर अधिकार संघर्ष अभियान (मासा) के बैनर तले देश भर से जुटे दर्जनों मज़दूर संगठनों, ट्रेड यूनियनों, चाय बागान वर्कर, मनरेगा, आंगनबाड़ी वर्करों ने 13 नवंबर को दिल्ली में लेबर …

लेबर कोड, निजीकरण के खिलाफ़ दिल्ली में देशभर के मज़दूरों का विशाल प्रदर्शन पूरा पढ़ें
https://www.workersunity.com/wp-content/uploads/2022/11/Modi-in-Himanchal.jpg

हिमाचल चुनाव: बीजेपी का धनबल क्या सत्ताविरोधी लहर को बुझा पाएगा?

By प्रेम सिंह 1991 से दिल्ली के बाद शिमला मेरा दूसरा शहर रहा है। इस दौरान हिमाचल प्रदेश के सभी शहरों, कस्बों और  गांवों में आना-जाना होता रहा है। खेती-किसानी …

हिमाचल चुनाव: बीजेपी का धनबल क्या सत्ताविरोधी लहर को बुझा पाएगा? पूरा पढ़ें
https://www.workersunity.com/wp-content/uploads/2022/11/Lula-da-silva-and-Bolsonaro.jpg

ब्राज़ील में लूला की जीत और लातिन अमेरिकी देशों के ‘लाल’ होने का मतलब

By मनीष आज़ाद इस लेख के लिखे जाने तक अति दक्षिणपंथी बोल्सेनारो (Jair Bolsonaro) ने ब्राज़ील के नये राष्ट्रपति वामपंथी लूला डी सिल्वा (Lula da Silva) को बधाई सन्देश नहीं …

ब्राज़ील में लूला की जीत और लातिन अमेरिकी देशों के ‘लाल’ होने का मतलब पूरा पढ़ें
https://www.workersunity.com/wp-content/uploads/2022/11/TUCI-leader-Sanjay-Singhvi.jpg