ट्रेड यूनियन

मारुति के तीनों प्लांटों में वेतन समझौता, तीन साल में 24,000 रुपये की होगी वृद्धि, वर्खास्त कर्मचारियों के लिए हर वर्कर देगा 2000

यूनियन और मैनेजमेंट के बीच सात महीने तक चली वार्ता के बाद मारुति मानेसर, मारुति गुड़गांव व पॉवर ट्रेन में वेतन समझौता सम्पन्न हो गया।

मारुति मानेसर, मारुति गुड़गांव व पॉवर ट्रेन में एक समान 23800 रुपये (22300+1000 +विविध500) प्रति माह की वेतन वृद्धि हुई।

इसके अलावा औसत सुविधाओं में तथा 3,415 रुपये की बढ़ोत्तरी हुई।

कुल मिलाकर 27215 रुपये की मासिक बढ़ोत्तरी हुई है। इस बढ़ोत्तरी का 60% हिस्सा वेतन के बेसिक में जुड़ेगा।

वर्करों का कहना है कि पिछली बार 16,800 रुपये का वेतन समझौता हुआ था, जिसके मुकाबले इस बार का समझौता संतोषजनक है।

ये भी पढ़ेंः 6 साल से जेल में बंद मारुति के मज़दूरों को हाईकोर्ट से भी नहीं मिली जमानत, कोर्ट ने याचिका खारिज की

maruti @workersunity
वर्कर्स रैली। फ़ोटोः वर्कर्स यूनिटी

2021 तक का समझौता

शनिवार को गेट मीटिंग में यूनियन नेताओं ने कहा कि तीनों प्लांटों की यूनियनों व प्रबंधन के बीच सम्पन्न 3 साल का यह समझौता 1 अप्रैल, 2018 से 31 मार्च, 2021 तक के लिए है।

वेतन वितरण पहले, दूसरे और तीसरे साल क्रमशः 55%, 25% और 20% होगा।

इसके साथ ही कैजुअल और अकुशल श्रमिकों के वेतन में 1,102 रुपए, अर्ध कुशल, कुशल, व टेंपरेरी वर्कमैन के वेतन में 1,674 रुपए, कंपनी ट्रेनी के वेतन में 1,980 रुपये और अप्रेंटिस के वेतन में 750 रुपये मासिक की वृद्धि हुई है।

कंपनी ट्रेनी के एक साल पूरा होने पर 9,000 रुपये की प्रोत्साहन राशि तथा टेंपरेरी वर्कमैन के 7 माह पूरा होने पर 5,250 की प्रोत्साहन राशि मिलेगी।

ये भी पढ़ेंः मारुति मानेसर में जूनियर इंजीनियर ने की खुदकुशी की कोशिश, कटर से अपनी गर्दन काटी

maruti @workersunity
मारुति प्लांट। फ़ोटो अरेंज्ड

बर्खास्त वर्करों के लिए 2000 रुपये प्रति वर्कर चंदे का फैसला

यूनियन ने 2012 के संघर्ष में बर्खास्त/जेल में बंद श्रमिकों के लिए मानेसर प्लांट से 2000 प्रति श्रमिक के हिसाब से राशि एकत्रित करके देने का निर्णय लिया है।

यूनियन नेताओं ने बताया कि गिफ्ट 5,000 रुपये से बढ़ाकर 9,350 रुपये किया गया है।

लॉंग सर्विस अवॉर्ड के तहत 10 साल पूरे होने पर 10,000 रुपये व 150 ग्राम चांदी, 15 साल पूरा होने पर 15,000 रुपये और 250 ग्राम चांदी, 20 साल पूरा होने पर 20,000 रुपये और 300 ग्राम चांदी, 25 साल पूरा होने पर 2 5,000 रुपये और 350 ग्राम चांदी और 30 साल की नौकरी पूरा होने के बाद 30,000 और 10 ग्राम सोने का सिक्का मिलेगा।

अवकाश के तहत 22 छुट्टियों तक इंसेंटिव नहीं कटेगा। मृत्यु में लिए मिलने वाला अवकाश नौ से बढ़कर 13 किया गया है।

ये भी पढ़ेंः यूनियनों ने 40 लाख चंदा इकट्ठा कर मारुति के पीड़ित मज़दूर परिवारों को दिए

maruti @workersunity
मारुति प्लांट। फ़ोटो अरेंज्ड

मेडिकल सुविधाएं बढ़ीं, बीमा राशि दो गुनी होकर 12 लाख रुपये हुई

मेडिकल सुविधाओं में बढ़ोतरी हुई है, बच्चों के खेल कूद के लिए प्रोत्साहन राशि की शुरुआत हुई है।

मिलने वाली अग्रिम राशि 20,ooo से बढ़कर एक लाख रुपये हो गई है। फैमिली पिकनिक की नई स्कीम शुरू की जाएगी।

सामूहिक बीमा 6 लाख रुपये से बढ़ाकर 12 लाख रुपये हो गया है।

श्रमिक की मृत्यु पर मुआवजा 15 लाख रुपये से बढ़कर 20 लाख रुपये किया गया है।

इसके साथ ही मृत्यु पर परिवार बीमा योजना शुरू हुई है, जिसके तहत 5 लाख रुपये का बीमा होगा।

परिवहन सुविधा में भी वृद्धि हुई है। शगुन राशि 1,500 रुपये से बढ़ाकर 5,100 की गई है।

(वर्कर्स यूनिटी स्वतंत्र और निष्पक्ष मीडिया के उसूलों को मानता है। इसके फ़ेसबुकट्विटरऔर यूट्यूब को फॉलो ज़रूर करें।)

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button
Close