ख़बरेंप्रमुख ख़बरें

शहीद उधम सिंह के रास्ते पर चलने की ली क़सम

शहीद उधम सिंह के बलिदान (31 जुलाई 1940) की याद में रविवार को इंटरार्क मजदूर संगठन सिडकुल पंतनगर व इंटरार्क मजदूर संगठन किच्छा द्वारा रामलीला हाल, भूतबंग्ला, रुद्रपुर जिला उधमसिंह नगर (उत्तराखंड ) में संयुक्त आम सभा का आयोजन किया गया।

आम सभा में उधम सिंह को क्यों याद करें? और सालाना वेतन समझौता पर बात हुई।

वक्ताओं ने कहा कि उधम सिंह को याद करने का मतलब है ताकतवर से ताकतवर जालिम को उसी की भाषा में जवाब देना. उधम सिंह को याद करने का अर्थ है दबे कुचलों, शोषितों, उत्पीड़ितों, मजदूर मेहनतकशों का संघर्षों का हमराही बनना और साम्राज्यवाद -सांप्रदायिकता -जातिवाद -क्षेत्रवाद व हर प्रकार के भेदभाव गैरबराबरी के खिलाफ़ युद्ध छेड़ना।

वक्ताओं ने कहा कि उधम सिंह को याद करने का मतलब है कि अंतिम सांस तक मजदूर राज यानी समाजवाद के उच्च लक्ष्य को दिलों में संजोकर रखना और उसे परवान चढ़ाना।

सभा में मौजूद वक्ताओं ने कहा कि आज जबकि सम्राज्यवादी ताकतें दुनियां भर में एक बड़कर एक नरसँहार रच रहे हैं, भारतीय शासक वर्ग नित तुतिकोरन सरीखे नरसँहार रच रहे हैं, दिल्ली, हरियाणा, सिडकुल उत्तराखंड समेत कंपनियों में मजदूरों के कत्लेआम रच कर खून बहाया जा रहा है, गौरक्षा के नाम पर इन्सानियत (मुस्लिम अल्पसँख्यकों ) को कत्ल किया जा रहा है, दलित उत्पीड़न चरम पर है, देश की बच्चियों नारियों के साथ दुश्कर्म व हत्याओं की घटना आम हो गई हो, सरकारें खुलेआम पूंजीपतियों जालिमों के पक्ष में खड़ी हो और मजदूर मेहनत कशों के खिलाफ़ कानून बना रही हो एसे दौर में उधम सिंह की प्रासंगिकता और अधिक बढ़ जाती है।

अल्पसंख्यकों, महिलाओं, मजदूरों पर हमले की निंदा

कार्यक्रम में अलवर में गौरक्षकों द्वारा अकबर उर्फ रकबर की हत्या,  बिहार में 34 बालिकाओं के साथ में बलात्कार की घृणित घटना, दिल्ली में भूख से 3 बच्चियों की मौत की घटना के प्रति आक्रोश ब्यक्त किया गया।

सर्वसम्मति से निंदा प्रस्ताव पारित कर मौन धारण किया गया। आज के कार्यक्रम में इंटरार्क कंपनी के दोनों प्लांट के लगभग 600 मजदूरों के साथ साथ इंकलाबी मजदूर केन्द्र, यजाकि वर्कर यूनियन, एरा श्रमिक संगठन, गुजरात अम्बुजा यूनियन सितारगंज के साथी भी शामिल हुए।

कार्यक्रम की शुरुआत शहीद उधम की फ़ोटो में माल्यार्पण के साथ की गई।

(रिपोर्टः दलजीत सिंह/राकेश कुमार, अध्यक्ष / अध्यक्ष, इंटरार्क मजदूर सँगठन सिडकुल पंतनगर /इंटरार्क मजदूर संगठन किच्छा)

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button
Close