संघर्ष

नीमराणाः डाइकिन में दो मज़दूरों को निलंबित किया, मैनेजमेंट पर बदले की भावना से कार्रवाई करने का आरोप

राजस्थान के नीमराणा में स्थित डाइकिन एयर कंडिशनिंग इंडिया में विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है।

कंपनी मैनेजमेंट ने दो मज़दूरों को निलंबित कर दिया है।

गौरतलब है कि बीते 29 अगस्त 2018 को यूनियन का रजिस्ट्रेशन हुआ।

वर्करों का कहना है कि मैनेजमेंट ने पहले तो भरसक कोशिश की कि यूनियन न बने। और जब बन गई तो वो बदले की भावना काम कर रहा है।

ये भी पढ़ेः डाइकिन यूनियन रजिस्ट्रेशन ख़ारिज़ कराने के प्रबंधन के तिकड़म पर हाइकोर्ट का स्टे

ये भी पढ़ेः  डाइकिन यूनियन को मान्यता मिल गई, लेकिन पुलिस ने झंडारोहण नहीं होने दिया

workers unity
डाईकिन के मजदूर लगातार 2013 से यूनियन बनाने की अपनी मांग को लेकर संघर्ष करते आ रहे थे। (फ़ोटो साभार डाइकिन यूनियन)

झगड़े का आरोप लगाकर निलंबित किया

वर्कर प्रतिनिधियों के अनुसार, 30 अगस्त से ही 10 श्रमिकों का देश के अलग अलग राज्यों में जबरन स्थानांतरण किया गया।

इसके विरोध में डाइकिन एयर कंडीशनिंग मजदूर यूनियन की तरफ से अध्यक्ष रुकमुदीन ने 12 अक्टूबर को प्रबंधन को नोटिस देकर 13 अक्टूबर को लंच बहिष्कार की सूचना दी थी।

इससे खफा प्रबंधन ने 2 वर्करों अनूप और जयवीर को 12 अक्टूबर को कथित लड़ाई झगड़ा करने का आरोप लगाकर 16 अक्टूबर को निलंबित कर दिया।

गौरतलब है कि कंपनी में यूनियन बनाने की 5 साल से वर्कर कोशिश कर रहे थे।

workers unity
शासन ने झंडारोहण नहीं होने दिया, लेकिन प्रबंधन को मान्यता व वार्ता का अधिकार देना पड़ा। (फ़ोटो साभार डाइकिन यूनियन)

ये भी पढ़ेः पांच साल के संघर्ष के बाद डाईकिन में बनी यूनियन, तीसरी बार में मिली कामयाबी

यूनियन बनने के बाद मैनेजमेंट ने यूनियन अध्यक्ष व महामंत्री को निलंबित कर दिया और 10 श्रमिकों का राज्य से बाहर दूरदराज सर्विस सेंटरों पर स्थानांतरण कर दिया।

बीते 5 वर्षों के संघर्ष के दौरान करीब 40 मज़दूर बर्खास्त हो चुके हैं।

(नीमराणा यूनियन प्रतिनिधि द्वारा दिए गए इनपुट के आधार पर)

(वर्कर्स यूनिटी स्वतंत्र मीडिया और निष्पक्ष मीडिया के उसूलों को मानता है। आप इसके फ़ेसबुकट्विटर और यूट्यूब को फॉलो करें।)

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button
Close