modi privatize coal sector

निजीकरण-2ः क्या सरकारें कोयला खदानों को अपनी जागीर समझती हैं?

By ए. प्रिया मोदी जी ने कोयले को भारतीय अर्थव्यवस्था का एक अतिआवश्यक स्तम्भ बताते हुए बड़ी धूर्तता से इस स्तम्भ को खोखला कर निजी कंपनियों को सौंपने के कई फायदे …

पूरा पढ़ें

मोदी सरकार की नीतियों के खिलाफ एक लाख से ज्यादा श्रमिकों ने उठाई आवाज

श्रमिक अधिकारों पर तेज होते हमले के खिलाफ मजदूर अब लॉकडाउन से निकलकर लामबंद होने की कोशिश कर रहे हैं। सरकार की श्रमिक विरोधी नीतियों को लेकर प्रतिरोध जताने के …

पूरा पढ़ें