Farmer at Singhu

आम जनता और मज़दूरों को इस किसान आंदोलन का क्यों समर्थन करना चाहिए?

By धर्मेंद्र आज़ाद ये काले कृषि क़ानून पूँजीवाद के और क्रूर व संकटग्रस्त होते जाने की ही निशानी है। ऐसा नहीं कि पूँजीवाद पहले उदार या मानवतावादी था। लेकिन यह …

पूरा पढ़ें
farmers arrests

मज़दूर किसान महा हड़ताल के ख़िलाफ़ चौतरफा दमन, कहीं धारा 144, कहीं एस्मा, कहीं गिरफ़्तारी

किसानों और मज़दूरों के 26-27 नवंबर को बुलाए गए महा हड़ताल के ख़िलाफ़ केंद्र और राज्य सरकारें सक्रिय हो गई हैं और गिरफ़्तारियों, धारा 144 और एस्मा लगाने जैसे हथकंडे …

पूरा पढ़ें