केंद्रीय मंत्री बर्खास्त-गिरफ्तार नहीं हुआ तो देशभर में होगा बड़ा आंदोलन: राकेश टिकैत

rakesh-tikait-2

लखीमपुर खीरी हिंसा के दौरान शहीद हुए किसानों की आत्मा की शांति के लिए मंगलवार को अंतिम अरदास का कार्यक्रम रखा गया।

यह कार्यक्रम घटना स्थल से कुछ ही दूरी पर रखा गया।

अंतिम अरदास में पहुंचे किसान नेता और भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा कि केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा की बर्खास्त और गिरफ्तार नहीं किया गया तो बड़ा आंदोलन होगा।

उन्होंने कहा, “मंत्री और उनके बेटे को आगरा में अलग-अलग बैरक में रखा जाना चाहिए। लखीमपुर जेल में नहीं क्योंकि वे हत्या के दोषी हैं, मंत्री को इस्तीफा देना चाहिए और गिरफ्तार किया जाना चाहिए।”

मीडिया से बात करते हुए राकेश टिकैत ने कहा कि मंत्री के बेटे की गिरफ्तारी रेड कार्पेट वाली है और रिमांड गुलदस्तों वाला है। किसी पुलिस अधिकारी में पूछताछ करने की हिम्मत नहीं है।

मंत्री और उनके बेटे पर तीन अक्टूबर की उस घटना का आरोप है जिसमें चार किसानों को एसयूवी से कुचल दिया गया था। मंत्री के बेटे आशीष मिश्रा को पहले ही गिरफ्तार किया जा चुका है।

उन्होंने घोषणा की कि 15 अक्टूबर को जिलों में पुतले जलाए जाएंगे और स्थानों का फैसला बाद में किया जाएगा।

हिंसा के बाद सरकार और किसानों के बीच मध्यस्थता पर राकेश टिकैत ने कहा कि हमारी पहले दिन से मांग है कि मंत्री का इस्तीफा हो और गिरफ्तारी भी हो।

राजनीतक दलों के नेताओं को रोका जा रहा है और आप बेरोक-टोक आ जा रहे हैं।

राकेश टिकैत ने कहा कि केंद्रीय मंत्री का इस्तीफा और गिरफ्तारी नहीं हुई तो आंदोलन की घोषणा करेंगे।

देश के हर जिले में अस्थि कलश लेकर जाएंगे। 24 अक्टूबर को लोग उन्हें प्रवाहित करेंगे और 26 अक्टूबर को लखनऊ आएंगे। इसकी लड़ाई पूरे देश में लड़ी जाएगी।

(साभार- आउटलुक)

(वर्कर्स यूनिटी स्वतंत्र निष्पक्ष मीडिया के उसूलों को मानता है। आप इसके फ़ेसबुकट्विटर और यूट्यूब को फॉलो कर इसे और मजबूत बना सकते हैं। वर्कर्स यूनिटी के टेलीग्राम चैनल को सब्सक्राइब करने के लिए यहां क्लिक करें। मोबाइल पर सीधे और आसानी से पढ़ने के लिए ऐप डाउनलोड करें।)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.