labour right

श्रम कानून में बदलाव के बाद आपकी छुट्टियों और काम के घंटों पर क्या असर पड़ेगा, जानें

श्रम कानूनों में संशोधन के लिए लाए गए चार लेबर कोड के तहत कथित रूप से वर्कर की बेहतरी के लिए वेतन, पेंशन, ग्रैचुइटी, मजदूर के स्वास्थ, सुरक्षा और काम …

श्रम कानून में बदलाव के बाद आपकी छुट्टियों और काम के घंटों पर क्या असर पड़ेगा, जानें पूरा पढ़ें
Narendra_Modi_1

क्या मोदी सरकार को नहीं रहा किसान आंदोलन का डर?

By अजीत सिंह भाजपा की चार राज्यों में हुई चुनावी जीत से इस बात का अनुमान लगाया जा सकता है कि एकाधिकारी पूंजी भाजपा को सत्ता में बना रहने देना …

क्या मोदी सरकार को नहीं रहा किसान आंदोलन का डर? पूरा पढ़ें

मोदी सरकार ने थोपा मज़दूरों पर आपातकाल, न नागरिक अधिकार न अदालती सुरक्षा

By मुनीष कुमार 1886 में श्रमिकों के एतिहासिक संघर्ष व कुबार्नियों के दम पर 8 घंटे का कार्य दिवस का अधिकार दुनिया के मजदूरों ने हासिल किया था। जिसके परिणामस्वरुप …

मोदी सरकार ने थोपा मज़दूरों पर आपातकाल, न नागरिक अधिकार न अदालती सुरक्षा पूरा पढ़ें
workers of the world unite

लेबर कोड के ख़िलाफ़ 19 को दिल्ली में राष्ट्रीय कन्वेंशन, 23 को ब्लैक डे मनाने का आह्वान

कृषि क़ानूनों के ख़िलाफ़ सड़क पर बैठे किसानों के बाद, लेबर कोड के ख़िलाफ़ मज़दूर संगठन भी कमर कस कर तैयार हो रहे हैं। आगामी सप्ताह, किसान संगठनों के द्वारा …

लेबर कोड के ख़िलाफ़ 19 को दिल्ली में राष्ट्रीय कन्वेंशन, 23 को ब्लैक डे मनाने का आह्वान पूरा पढ़ें
santosh gangwar

लेबर कोड जल्द लागू करने की अपील कर रहा है भारतीय मजदूर संघ: संतोष गंगवार

By आशीष आनंद केंद्रीय श्रम व रोजगार मंत्री संतोष गंगवार ने एक बार फिर कहा है कि केंद्र सरकार चार लेबर कोड यानी श्रम संहिताओं को पूरे देश में लागू …

लेबर कोड जल्द लागू करने की अपील कर रहा है भारतीय मजदूर संघ: संतोष गंगवार पूरा पढ़ें
trade unions gudgaon
Tamilnadu OCFWU Avadi Comrades demonstrated
maruti vendor company bell sonica workers

अब कंपनी दिन में 12 घंटे काम ले सकती हैः श्रम मंत्रालय का नया प्रस्ताव

मोदी सरकार ने अपनी मनमर्जी से ज़बरदस्ती पास कराए गए आक्युपेशनल सेफ़्टी हेल्थ एंड वर्किंग कंडिशन कोड (ओसीएच) का भी मान नहीं रखा और अब उसमें भी फेरबदल कर काम …

अब कंपनी दिन में 12 घंटे काम ले सकती हैः श्रम मंत्रालय का नया प्रस्ताव पूरा पढ़ें