ख़बरेंप्रमुख ख़बरें

रेल यूनियन को भला बुरा कहने पर गुस्साए कर्मचारियों ने मंत्री पीयूष गोयल को दौड़ाया, हुई हाथापाई, लखनऊ के कार्यक्रम से सीधे हवाई अड्डे भागना पड़ा

लखनऊ में शुक्रवार को रेल मंत्री पीयूष गोयल को रेल कर्मचारियों के भारी विरोध का सामना करना पड़ा।

रेलवे यूनियन के बारे में भला बुरा कहने पर गुस्साए कर्मचारियों ने गोयल को दौड़ा लिया।

इसके चलते मंत्री को कार्यक्रम से जान बचाकर भागना पड़ा और सीधे हवाई अड्डे पहुंचे।

गोयल के साथ धक्कामुक्की, हाथापाई और मारपीट हुई, जिससे उनके सिर में मामूली चोटें आई हैं।

शुक्रवार को गोयल आलमबाग में रेलवे कर्मचारियों के एक कार्यक्रम में बतौर अतिथि शिरकत करने पहुंचे थे।

यूनियन के बारे में भला बुरा करने पर नाराज़ हुए कर्मचारी

बताया जाता है कि गोयल ने भाषण के दौरान यूनियन के बारे में कथित रूप से ‘भड़काऊ’ बातें कहीं।

अप्रेंटिस कर्मियों की बहाली के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने संतोष जनक जवाब नहीं दिया।

कर्मचारी शांत नहीं हुए और संतोष जनक उत्तर देने की मांग करने लगे।

इस बात से मंत्री उखड़ गए और उन्होंने यूनियन पर नौजवान कर्मचरियों को भड़काने का आरोप लगाते हुए भला बुरा कहना शुरू कर दिया।

इसके बाद सभा में हंगामा मच गया और उनके ख़िलाफ़ रेलवे कर्मचारी उग्र हो गए और मुर्दाबाद के नारे लगाने लगे।

piyush goel
पीयूष गोयल फ़ाइल फ़ोटो। (फ़ोटो साभार ऑल इंडिया रेडियो)

जो हाथ में आया मंत्री पर फेंका

हज़ारों की तादाद में मौजूद कर्मचारियों का गुस्सा इतना बढ़ गया कि उन्होंने पीयूष गोयल को दौड़ा लिया।

जो हाथ में आया, कर्मचारियों ने मंच पर मौजूद मंत्री के ऊपर फेंकना शुरू कर दिया।

इसी दौरान किसी ने गमला फेंक कर मारा जो गोयल के सिर में लगा। उन्हें मामूली चोटें आई हैं।

पुलिस ने बड़ी मुश्किल से मंत्री को भीड़ से बचा कर बाहर निकाल पाई।

piyush goel at lucknow northern railway mens union
शुक्रवार को लखनऊ में नार्दर्न रेलवे मेंस यूनियन के कार्यक्रम में शिरकत करते पीयूष गोयल। (फ़ोटोः पीयूष गोयल ट्विटर)

अप्रेंटिस भर्ती पर मामला गर्माया

पुरानी पेंशन योजना लागू करने और अप्रेंटिस भर्ती की मांग पर गोयल संतोषजनक जवाब नहीं दे पाए थे।

जब पुलिस उन्हें घेरा बनाकर बाहर निकाल रही थी, गुस्साए कर्मचारी उनकी फ्लीट के सामने कूद गए।

यहां तक कि नाराज कर्मचारियों ने उनकी कार के शीशे भी तोड़ दिए।

हालांकि पीयूष गोयल के ऑफ़िस के ट्विटर हैंडल से बयान जारी कर इस घटना से इनकार किया गया है।

ट्विटर पोस्ट में कहा गया है कि, ‘मीडिया के कुछ हल्कों में पीयूष गोयल के साथ मारपीट, धक्कामुक्की की ख़बरें आ रही हैं, जो कि ग़लत है। उनके साथ ऐसी कोई घटना नहीं हुई है। ‘

(वर्कर्स यूनिटी स्वतंत्र मीडिया और निष्पक्ष मीडिया के उसूलों को मानता है। आप इसके फ़ेसबुकट्विटर और यूट्यूब को फॉलो करें।)

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button
Close