लखीमपुर खीरी के गवाहों को हथियार का लाइसेंस देने की मांग, एसकेएम ने फिर कहा- टेनी को गिरफ़्तारी करो

https://www.workersunity.com/wp-content/uploads/2022/05/Lakimpur-kheri-skm-leaders.jpg

संयुक्त किसान मोर्चा (एसकेएम) के एक बड़े प्रतिनिधिमंडल ने 5 मई को उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी का दौरा किया, जहां किसान प्रदर्शन के दौरान मोदी सरकार के मंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा ने कई किसानों को जीप से कुचल कर मार डाला था।

प्रतिनिधिमंडल ने जीप से कुचले जाने वाले पीड़ितों के परिवारों और हत्या के आरोप में अन्यायपूर्ण तरीके से गिरफ्तार जेल भेजे गए किसानों के परिजनों से मुलाकात की।

एसकेएम का दौरा आशीष मिश्रा टेनी की हाल ही में हुई फिर से गिरफ्तारी की पृष्ठभूमि में हुआ, जब सुप्रीम कोर्ट ने उनकी जमानत रद्द कर दी थी। एसकेएम शुरू से ही प्रभावित परिवारों के नियमित संपर्क में रहा है और सुप्रीम कोर्ट में कानूनी सहायता सहित उन्हें हर तरह की मदद दी है।

एसकेएम प्रतिनिधिमंडल ने जिला मजिस्ट्रेट, जिला पुलिस अधीक्षक और अन्य अधिकारियों से मुलाकात की और प्रशासन को मांग पत्र दिया।

वर्कर्स यूनिटी को सब्सक्राइब करने के लिए इस लिंक पर जाएं

https://i0.wp.com/www.workersunity.com/wp-content/uploads/2022/05/Rakesh-tikait.jpg?resize=735%2C409&ssl=1

मांग पत्र

1. अजय मिश्रा टेनी को केंद्रीय मंत्रिमंडल से हटाया जाना और साजिश के आरोप में गिरफ्तारी।

2. किसानों पर हत्या के आरोप और सभी मामलों को वापस लेना।

3. लखीमपुर खीरी हत्याकांड में सभी घायलों को मुआवजा।

4. मामले में गवाहों को पूर्ण सुरक्षा और उनकी सुरक्षा के लिए हथियार का लाइसेंस देना।

डीएम और एसपी ने एसकेएम प्रतिनिधिमंडल को आश्वासन दिया कि जिला प्रशासन अपने दायरे में आने वाले सभी मुद्दों को तुरंत लागू करेगा।

एसकेएम ने दोहराया कि वह लखीमपुर खीरी मामले में गिरफ्तार किए गए पीड़ितों और किसानों के परिवारों को हर तरह से समर्थन देना जारी रखेगा।

एसकेएम के प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व राकेश टिकैत, जोगिंदर सिंह उगराहां, युद्धवीर सिंह, जगजीत सिंह दल्लेवाल, डॉ अशोक धवले, सुरजीत फूल, हरिंदर सिंह लखोवाल, गुरमीत सिंह महमा, हरपाल सिंह संघ, गुरबक्स सिंह बरनाला, बलवंत बेहरामके, गुरिंदर सिंह भंगू, सुखपाल सिंह दफर, भरत सिंह, दीपक लांबा, अभिमन्यु कोहर, सेवा सिंह आर्य और लखीमपुर खीरी, शाहजहांपुर और अन्य जगहों से एसकेएम के कई स्थानीय नेताओं ने किया।

(वर्कर्स यूनिटी स्वतंत्र निष्पक्ष मीडिया के उसूलों को मानता है। आप इसके फ़ेसबुकट्विटर और यूट्यूब को फॉलो कर इसे और मजबूत बना सकते हैं। वर्कर्स यूनिटी के टेलीग्राम चैनल को सब्सक्राइब करने के लिए यहां क्लिक करें।)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.