दूसरे राज्यों में फंसे बंगाल के मजदूरों के लिए ममता सरकार की ‘स्नेहेर परस’ योजना

पश्चिम बंगाल सरकार द्वारा बाहरी राज्य में फंसे श्रमिकों की मदद करने के लिए ‘ स्नेहर परस’ नामक एक योजना, पैरिस प्रोजेक्ट लॉकडाउन योजना को अपनाया गया है।

इस परियोजना के माध्यम से, विदेशी राज्यों में फंसे बंगाल के  श्रमिकों को 1000 रुपये की सहायता मिलेगी। पैसा सीधे कार्यकर्ता के बैंक खाते में भेजा जाएगा।

 

‘स्नेह पराश’ परियोजना के माध्यम से मदद पाने के लिए –

1.सबसे पहले http://wbtrackmigrants.com/sneher_paras पर जाकर  Pharsh Parsh नामक ऐप डाउनलोड करें।

2.उसके बाद आवेदक अपना फोटो अपलोड करें ।

3.आवेदक की एक प्रति फोटो।

4.फूड पार्टनर नंबर या ईपीआईसी (वोटर कार्ड) नंबर या आधार कार्ड नंबर।

5.आवेदक के बैंक खाते का विवरण।

6.आवेदक का फोन नंबर।

7.पश्चिम बंगाल के स्थानीय क्षेत्र में एक ज्ञात व्यक्ति का नाम, फोन नंबर और व्यक्तिगत संबंध। http://wbtrackmigrants.com/sneher_paras ये लिंक भी डालना होगा।

 

(वर्कर्स यूनिटी स्वतंत्र निष्पक्ष मीडिया के उसूलों को मानता है। आप इसके फ़ेसबुकट्विटर और यूट्यूब को फॉलो कर इसे और मजबूत बना सकते हैं।)