interarch-rudrapur-workers-protest

सालों की चुप्पी के बाद टूटा इंटरार्क मजदूरों का सब्र, कंपनी के गेट पर धरने पर बैठे मजदूर

इन्टरार्क बिल्डिंग प्रोडक्ट्स प्राइवेट लिमिटेड किच्छा तथा पंतनगर के मजदूरों ने 4 साल के चुप्पी के बाद कंपनी के गैरकानूनी गतिविधियों के विरोध में 16 अगस्त 2021 से कंपनी गेट …

पूरा पढ़ें
interark-management

इंटरार्क कंपनी के शोषण के खिलाफ अनिश्चितकालीन धरने पर मजदूर, बड़ी कार्रवाही की चेतावनी

इन्टरार्क मजदूर संगठन सिडकुल पंतनगर के अनिश्चितकालीन धरने दूसरा दिन संघर्ष पूर्ण रूप से पूर्ण हुआ। इन्टरार्क बिल्डिंग प्रोडक्ट्स प्राइवेट लिमिटेड सिडकुल पंतनगर व किच्छा जिला- उधम सिंह नगर के …

पूरा पढ़ें
interarc management

इंटरार्क कंपनी के मनमानी के खिलाफ मजदूरों में भारी आक्रोश, प्रबंधन पर अवमानना का नोटिस

रुद्रपुर (उत्तराखंड): चार साल से वेतन समझौता ना करने व तीन माँगपत्रों के लंबित रहते इंटरार्क कंपनी के पंतनगर और किच्छा प्लांटों में कथित सहायता राशि के नाम पर श्रमिकों …

पूरा पढ़ें

किसान आंदोलन को मिला मजदूर यूनियनों का साथ, सैकड़ों की तादाद में टिकरी बॉर्डर पहुंचे शिक्षक

पिछले करीब 200 दिनों से दिल्ली की सीमाओं पर विरोध-प्रदर्शन कर रहे किसानों को अब केंद्रीय ट्रेड यूनियन का समर्थन मिलने वाला है। दरअसल डेमोक्रेटिक टीचर्स फ्रंट ऑफ पंजाब के …

पूरा पढ़ें
bell sonica workers

भगत सिंह के शहादत दिवस पर मज़दूरों ने लाल फीता बांध किया लेबर कोड का विरोध

भगत सिंह के 90वें शहादत दिवस को मज़दूर यूनियनों ने कारपोरेट लूट के ख़िलाफ़ संकल्प दिवस के रूप में मनाया। 23 मार्च को भगतसिंह, राजगुरू, सुखदेव और पंजाबी के क्रांतिकारी …

पूरा पढ़ें

मज़दूर नेता ने पी लिया पेट्रोल, चार दिन तक मैनेजमेंट करता रहा प्रताड़ित

लॉकडाउन के बाद कंपनियों में मज़दूरों की छंटनी, वेतन कटौती, उत्पीड़न, वेतन समझौता न करना और यूनियन तोड़ने की कोशिशें तेज़ हो गई हैं। राजस्थान के एक मज़दूर नेता ने …

पूरा पढ़ें

कंपनी की प्रताड़ना से तंग मज़दूर यूनियन के अध्यक्ष ने फैक्ट्री गेट पर किया खुद को आग के हवाले

राजस्थान के बहरोड़ औद्योगिक क्षेत्र स्थित ऑटोनम फैक्ट्री में वहां के वर्कर्स यूनियन के अध्यक्ष जितेंद्र ने आज सुबह फैक्ट्री के गेट पर खुद को आग लगा ली। ऑटोनम मारुति …

पूरा पढ़ें
workers protest general strike

चार लेबर कोड भी उतने ही मज़दूर विरोधी जितने तीन कृषि क़ानून, फिर मज़दूर वर्ग कहां है?

By अजित सिंह जिस दिन संसद में कृषि बिल पारित किए गए उसके दूसरे दिन ही और उसी दबंगई से तीन लेबर कोड भी पारित कराए गए जबकि सदन में …

पूरा पढ़ें