“खुद का भी पेट नहीं भर पा रहे ,घर वालों को क्या भेजें” : लॉकडाउन के एक साल बाद

कोविड-19 महामारी के बाद लगे लॉकडाउन के दौरान घर वापस गए अधिकांश मजदूर आजीविका की तलाश में राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) लौट तो आये हैं लेकिन उनके लिये रोजगार ढूंढ …

पूरा पढ़ें

ग़ाज़ियाबाद की अवैध पटाखा फैक्ट्री में भीषण विस्फ़ोट, आग में 8 मज़दूरों की दर्दनाक मौत

उत्तरप्रदेश के गाज़ियाबाद ज़िले के मोदी नगर मोमबत्ती बनाने वाली एक फैक्ट्री में भीषण विस्फोट के बाद आग लग गई। ख़बर के अनुसार, आग मोदीनगर के बखरवा गांव की एक …

पूरा पढ़ें

स्विफ्ट सिक्योरिटी सर्विस ने तीन माह से मज़दूरों को नहीं दिया है वेतन, रोजाना 12 घंटे कराया जाता है काम

ग़ाज़ियाबाद के विंडसर पार्क में सिक्योरिटी गार्ड का काम करने वाले लगभग 100 मज़दूरों को 3 माह से वेतन नहीं मिला है। ये सभी गार्डस स्विफ्ट सिक्योरिटी सर्विस प्राइवेट लिमिटेड …

पूरा पढ़ें

साहिबाबाद में अब ऑटो गियर कंपनी के 186 मजदूरों की ‘काम से छुट्टी’

लेऑफ के बहाने मजदूरों को नौकरी से निकालने का सिलसिला पूरे देश में तेज हो गया है, जिससे मजदूरों को कम पगार में भर्ती कर अपनी शर्तों को थोप सकें। …

पूरा पढ़ें
atlas cycle haryana

क्या एटलस मालिकों के बीच झगड़े में तबाह हुए साइकिल गढ़ने वाले सैकड़ों कर्मचारी?

By खुशबू सिंह साइकिल निर्माता और आत्मनिर्भर भारत की 60 साल पुरानी कंपनी “एटलस” ने दशकों से काम कर रहे कर्मचारियों को एक झटके में बेरोजगार कर दिया। कंपनी ने …

पूरा पढ़ें