https://www.workersunity.com/wp-content/uploads/2021/07/lic.jpg

निजीकरण की भेंट चढ़ी देश की सबसे बड़ी बीमा कंपनी LIC

केंद्र सरकार द्वारा तमाम सार्वजनिक उद्योगों के निजीकरण करने की श्रृंखला में केंद्रीय मंत्रिमंडल ने देश की सबसे बड़ी बीमा कंपनी जीवन बीमा निगम (एलआईसी) के विनिवेश को मंजूरी दे …

निजीकरण की भेंट चढ़ी देश की सबसे बड़ी बीमा कंपनी LIC पूरा पढ़ें
LIC logo

निजीकरण के विरोध के बीच LIC कर्मचारियों के वेतन में 25% की वृद्धि, हफ़्ते में पांच दिन काम

निजीकरण का विरोध कर रहे एलआईसी कर्मचारियों को मोदी सरकार ने बड़ी राहत देते हुए 25% वेतन वृद्धि का ऐलान किया है। बीते गुरुवार को केंद्र सरकार ने इस बढ़ोत्तरी …

निजीकरण के विरोध के बीच LIC कर्मचारियों के वेतन में 25% की वृद्धि, हफ़्ते में पांच दिन काम पूरा पढ़ें
LIC EMPLOYEE

एलआईसी को बेचने की तैयारी में सरकार, कर्मचारियों ने किया बड़े आंदोलन का ऐलान

1 फरवरी को पेश हुए बजट में   बीमा क्षेत्र में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) की सीमा 49 फीसद से बढ़ाकर 74 फीसद करने के नरेंद्र मोदी के सरकार के फैसले …

एलआईसी को बेचने की तैयारी में सरकार, कर्मचारियों ने किया बड़े आंदोलन का ऐलान पूरा पढ़ें
LIC Employees protest against IPO

प्रधानमंत्री मोदी कर रहे निजीकरण, उनके मंत्री से एलआईसी कर्मी कर रहे फरियाद

बीमा कर्मी संघ बरेली डिवीजन के एक प्रतिनिधिमंडल ने 29 अगस्त को बरेली लोकसभा के बीजेपी सांसद और श्रम मंत्री संतोष गंगावर को ज्ञापन देकर निजीकरण की ओर बढ़ते मोदी …

प्रधानमंत्री मोदी कर रहे निजीकरण, उनके मंत्री से एलआईसी कर्मी कर रहे फरियाद पूरा पढ़ें
LIC Employees protest against privatization

एलआईसी में आईपीओ के ख़िलाफ़ कर्मचारी 24 अगस्त को करेंगे विरोध प्रदर्शन

देश की 60 साल पुरानी बीमा कंपनी एलआईसी में सरकार ने पैसा निवेश न करने का फैसला लिया है और इनिशियल पब्लिक ऑफर (आईपीओ) के जरिए इसका निजीकरण करने की …

एलआईसी में आईपीओ के ख़िलाफ़ कर्मचारी 24 अगस्त को करेंगे विरोध प्रदर्शन पूरा पढ़ें

LIC कर्मचारी यूनियन ने IDBI बैंक के शेयर खरीदने पर खड़े किए गंभीर सवाल

केंद्र सरकार ने जिस तरह से सरकारी उपक्रम आईडीबीआई बैंक को लाइफ इंश्योरेंस कॉर्पोरेशन को बेचने का फैसला लिया है, उसका तमाम बैंक और इंश्योरेंस सेक्टर के लोग विरोध कर …

LIC कर्मचारी यूनियन ने IDBI बैंक के शेयर खरीदने पर खड़े किए गंभीर सवाल पूरा पढ़ें