https://www.workersunity.com/wp-content/uploads/2022/11/Modi-in-security-dress.jpg

गृह मंत्रियों का चिंतन शिविरः पूरे भारत को पुलिस राज में बदने की कोशिश- नज़रिया

By पी जे जेम्स केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की अध्यक्षता में 27 और 28 अक्टूबर को फरीदाबाद में राज्यों के गृह मंत्रियों का दो दिवसीय ‘चिंतन शिविर’ (विचार-मंथन सत्र) …

गृह मंत्रियों का चिंतन शिविरः पूरे भारत को पुलिस राज में बदने की कोशिश- नज़रिया पूरा पढ़ें

FANPSR की नई पेंशन स्कीम और रेलवे निजीकरण के खिलाफ देशव्यापी विरोध अभियान जारी

ओल्ड पेंशन स्कीम को बहाल करने का फ़्रंट अगेंस्ट एनपीएस इन रेलवे FANPSR का संघर्ष लगातार जारी है। FANPSR से सदस्य पिछले कई महीनों से NPS और रेलवे में किये …

FANPSR की नई पेंशन स्कीम और रेलवे निजीकरण के खिलाफ देशव्यापी विरोध अभियान जारी पूरा पढ़ें

सामान ढुलाई का काम भी रेलवे ने सौंपा निजी कंपनियों को,देश भर के कुली पर रोजागार जाने का संकट छाया

यात्रियों का सामान ढोने का काम भी निजी कंपनियों के हवाले रेलवे निजीकरण के विरोध में मंगलवार को लालवर्दी रेलवे कुली यूनियन के बैनर तले बीकानेर रेलवे स्टेशन के बाहर …

सामान ढुलाई का काम भी रेलवे ने सौंपा निजी कंपनियों को,देश भर के कुली पर रोजागार जाने का संकट छाया पूरा पढ़ें
BPCL Privatization protest

बीपीसीएल के निजीकरण के ख़िलाफ़ बिफरे कर्मचारी, हड़ताल कर दिया अल्टीमेटम

सार्वजनिक क्षेत्रों में निजीकरण की सरकारी मुहिम से कर्मचारियों ने जबर्दस्त उबाल है। इसी कड़ी में भारत पेट्रोलियम की यूनियनों ने एकजुट होकर सरकार की नीति के ख़िलाफ़ दो दिनी …

बीपीसीएल के निजीकरण के ख़िलाफ़ बिफरे कर्मचारी, हड़ताल कर दिया अल्टीमेटम पूरा पढ़ें
modi train
private train modi railway ministry

प्राइवेट ट्रेनों में किराए की कोई सीमा नहीं होगी, कंपनी जब चाहे जितना चाहे बढ़ाए

निजी हाथों में बेची गईं पैसेंजर ट्रेनों के किराये की कोई सीमा नहीं होगी और ऑपरेटरों को मनमर्जी किराया बढ़ाने की छूट होगी, इसके लिए उन्हें सरकार से भी मंज़ूरी …

प्राइवेट ट्रेनों में किराए की कोई सीमा नहीं होगी, कंपनी जब चाहे जितना चाहे बढ़ाए पूरा पढ़ें

रेलवे कभी सरकार की ज़िम्मेदारी थी, अब बिकाऊ प्रॉपटी है

By आशीष आनंद भारत को अंग्रेज़ी हुकूमत से आजादी मिलने के बाद कभी पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू ने कहा था, ‘रेलवे हमारा सबसे बड़ा राष्ट्रीय उपक्रम है और रहेगा।’ उनके …

रेलवे कभी सरकार की ज़िम्मेदारी थी, अब बिकाऊ प्रॉपटी है पूरा पढ़ें
railway privatization prku