सभी आंगनवाड़ी वर्कर्स यहां पर हो एकजुट

एंकर* – आंकड़ों को देखकर कलेक्टर ने जताई नाराजगी *स्वास्थ्य एवं महिला बाल विकास के कार्यक्रम में अधिकारियोंको दिये निर्देश तो एक कार्यकर्ता को किया बर्खास्त एवं सुपरवाईजर को निलंबित*  शुक्रवार को मुंगावली तहसील के सामुदायिक भवन में कलेक्टर बीएस जामौद के द्वारा आशा,आशा सहयोगी, एएनएम एवं आंगनवाडी कार्यकर्ताओं के उन्मुखीकरण एवं महिला सशक्तिकरण का कार्यक्रम आयोजित किया गया जिसमें बोलते हुये कलेक्टर ने कहा कि जो आंकडें आपके विभाग के द्वारा मुझे दिये गये हैं उनको देखा जाये तो भयावह स्थिति दिखाई देती है क्योंकि मुंगावली ब्लॉक में गर्भवती महिलाओं के पंजीयन, टीकाकरण आदि के आंकडें ज़िले में सबसे खराव स्थिति में दिखाई दे रहे हैं। जिससे नाराज होते हुये कलेक्टर ने गर्भवती पंजीयन की स्थित बताते हुये कहा कि ढ़ेकन में 54 प्रतिशत, बहादुरपुर 43, ड़ोगरा 55, मदऊखेडी 45 एवं मल्हारगढ़ 45 प्रतिशत हैं। वहीं जिला टीकाकरण अधिकारी की उपस्थिति में कलेक्टर ने जो आकडें बताये उसके अनुसार मल्हारगढ 10, घाटबमुरिया 07, पठारी 23 एवं ड़ोगरा में 39 प्रतिशत ही टीकारण किया गया है। जबकि 100 प्रतिशत ही टीकारण का कार्य किया जाना चाहिये। इन आंकडों को देखकर जामौद बोले की आप लोगों के द्वारा क्षेत्र में कार्य किया ही नही जा रहा मात्र औपचारिकता निभाई जा रही है। *बर्खास्त एवं निलंबित करके दी चेतावनी* इस बैठक में कलेक्टर के द्वारा महिला बाल विकास के द्वारा अच्छी कार्यकर्ता एवं खराव कार्यप्रणाली वाली कार्यकर्ताओं के बारे में पूंछा तो सुपरवाईजर सीमा अहिरवार के द्वारा वार्ड नम्बर 10 की कार्यकर्ता शहनाज खान को खराव कार्यकर्ता होने के बारे में बताया एवं कहा कि इनके द्वारा कार्य में रूचि नही ली जा रही तो कलेक्टर ने तत्काल इनकी सेवा समाप्त करने के आदेश दिये वहीं वंदना वैध को उत्कृष्ठ  कार्यकर्ता की सूचि में बताया जिनके द्वारा विभाग की योजनाओं के बारे में बताया गया। वहीं मल्हारगढ़ सेक्टर की सुपरवाईजर रश्मि जैन को कार्यकर्ताओं के अनुपस्थित रहने के चलते कारण बताओं नोटिस जारी करने के निर्देश दिये गये तो बैठक में अनुपस्थित रहने सुपरवाईजर सपना यादव को तत्काल निलंबित करने के निर्देश कलेक्टर के द्वारा दिये गये। सभी आशा, एएनएम एवं आंगनवाडी क़ार्यकर्ताओं से कहा कि काम करो नही में आपको छोड़ूंगा नही इस बैठक का आयोजन सुवह साढ़े दस बजे से किया गया था जिसके  चलते गांव-गांव से यह सभी कार्यकर्ता सुवह से ही आ गई होगीं जससे की समय से पहुंचा जा सके पर यहां दो-दो विभाग महिला बाल विकास एवं स्वास्थ्य विभाग के होते हुये यह कार्यकर्ता दस बजे से चार बजे तक बिना चाय नास्ता तो दूर की बात हे।बिना पानी के बैठीं रही जिससे यही कहा जायेगा कि इन अधिकारियों को कार्यकर्ताओं की बिल्कुल भी चिंता नही है।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.