अग्निपथ: खाप पंचायतों ने आवेदकों के सामाजिक “बहिष्कार” का किया ऐलान

https://www.workersunity.com/wp-content/uploads/2022/06/khaps-in-haryana-1.jpg

खाप पंचायत नेताओं और संयुक्त किसान मोर्चा (SKM) के प्रतिनिधियों ने हरियाणा में सशस्त्र बलों के लिए अग्निपथ भर्ती योजना में भाग लेने वाले युवाओं को “सामाजिक रूप से अलग-थलग” करने की घोषणा की है।

साथ ही उन्होंने सत्तारूढ़ भाजपा-जजपा गठबंधन के राजनेताओं और इस योजना का समर्थन करने वाले कॉरपोरेट घरानों के बहिष्कार की भी घोषणा की है।

अग्निपथ योजना ने पूरे देश में विरोध प्रदर्शन किया जा रहे हैं क्योंकि इस योजन में केवल चार साल की सेवा प्रदान की जाएगी।

वर्कर्स यूनिटी को सपोर्ट करने के लिए सब्स्क्रिप्शन ज़रूर लें- यहां क्लिक करें

जिसमें से केवल 25 फीसदी को ही रोज़गार मिलेगा और बाकी बचे 75 फीसदी को पेंशन लाभ के बिना बाहर का रास्ता दिखा दिया जाएगा।

हरियाणा में रोहतक जिले के सांपला कस्बे में बुधवार को एक बैठक बुलाई गई जिसमें हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और पंजाब के विभिन्न खापों और संयुक्त किसान मोर्चा व अन्य सामुदायिक समूहों के प्रतिनिधियों ने भाग लिया था।  इसमें छात्र संगठनों के सदस्य भी शामिल हुए।

24 जून को उत्तराखंड में भारी संख्या में विरोध प्रदर्शन

संयुक्त किसान मोर्चा द्वारा 24 जून को सैनिकों की भर्ती योजना अग्निपथ का विरोध करते हुए पूरे देश भर में प्रदर्शन किया जाएगा।

वहीं किसान संघर्ष समिति ने नैनीताल, उत्तराखंड के रामनगर मे भी संयुक्त किसान मोर्चा द्वारा 24 जून को लखनपुर चौक पर प्रातः 10 बजे अग्निपथ योजना के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन का आयोजन किया है।

इस विरोध प्रदर्शन में नौजवानों, किसानों के साथ सामाजिक-राजनीतिक संगठनों ने जनता से भारी संख्या में उपस्थिति का आग्रह किया है।

बैठक की अध्यक्षता करने वाले धनखड़ खाप के प्रमुख ओम प्रकाश धनखड़ का कहना हैं कि, “हम इस भर्ती के लिए आवेदन करने वालों को सामाजिक रूप से अलग-थलग करने का प्रयास करेंगे। साथ ही उन्होंने कहा कि हम उन लोगों का बहिष्कार करते हैं जो इस योजना में आवेदन करने को तैयार हैं।”

“हम इस योजना का बहिष्कार इसलिए कर रहे हैं क्यूंकि यह देश के युवाओं को एक मज़दूर के तौर पर काम पर रख रहा है और इसे ‘अग्निवीर’ का नाम दे रहा है।”

NDTV द्वारा पूछे जाने पर कि क्या आवेदन करने वालों का बहिष्कार किया जायेगा, उन्होंने कहा कि हम इसे बहिष्कार का नाम नही दे रहे हैं बस समुदाय को ऐसे लोगों से दूरी बनाए रहने का आग्रह कर रहे हैं।

खाप के सदस्यों ने 14 जून को घोषित अग्निपथ योजना का समर्थन करने वाले कॉरपोरेट घरानों और राजनेताओं के “बहिष्कार” का आह्वान किया है।

खाप पंचायत नेताओं और संयुक्त किसान मोर्चा की मांग हैं कि योजना के खिलाफ आंदोलन के दौरान दर्ज किए गए प्रदर्शनकारियों के खिलाफ मामले वापस लिए जाने चाहिए।

(वर्कर्स यूनिटी स्वतंत्र निष्पक्ष मीडिया के उसूलों को मानता है। आप इसके फ़ेसबुकट्विटर और यूट्यूब को फॉलो कर इसे और मजबूत बना सकते हैं। वर्कर्स यूनिटी के टेलीग्राम चैनल को सब्सक्राइब करने के लिए यहां क्लिक करें। मोबाइल पर सीधे और आसानी से पढ़ने के लिए ऐप डाउनलोड करें।)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.