https://www.workersunity.com/wp-content/uploads/2021/09/CCA-Jharkhand.jpg

आदिवासी मज़दूर नेता को कुख्यात अपराधी बता किया ज़िलाबदर, रोज़ 100 किमी. दूर थाने में हाज़िरी का आदेश

By रूपेश कुमार सिंह, स्वतंत्र पत्रकार झारखंड के पश्चिम सिंहभूम जिला के झींकपानी थानान्तर्गत जोड़ापोखर हाई स्कूल कॉलोनी निवासी झारखंड कामगार मजदूर यूनियन एवं अखिल भारतीय क्रांतिकारी आदिवासी महासभा के …

आदिवासी मज़दूर नेता को कुख्यात अपराधी बता किया ज़िलाबदर, रोज़ 100 किमी. दूर थाने में हाज़िरी का आदेश पूरा पढ़ें
https://www.workersunity.com/wp-content/uploads/2021/07/stan-swamys.jpg

स्टेन स्वामी की मौत के बाद खुलासा, कंप्यूटर में प्लांट किए गए थे आपत्तिजनक दस्तावेज

सामाजिक कार्यकर्ता स्‍टेन स्‍वामी की मौत के बाद अमेरिकी फोरेंसिंक एजेंसी ने अपनी एक रिपोर्ट में बड़ा खुलासा किया है। रिपोर्ट में दावा किया गया है कि फादर स्टेन स्वामी …

स्टेन स्वामी की मौत के बाद खुलासा, कंप्यूटर में प्लांट किए गए थे आपत्तिजनक दस्तावेज पूरा पढ़ें
https://www.workersunity.com/wp-content/uploads/2021/07/Stan-Swami.jpg

ज़मानत पर सुनवाई के दिन ही हुआ सामाजिक कार्यकर्ता स्टेन स्वामी का निधन

आदिवासी अधिकारों के लिए ताज़िंदगी काम करने वाले वयोवृद्ध सामाजिक कार्यकर्ता फ़ादर स्टैन (Activist Stan Swamy) स्वामी का सोमवार को मुंबई के एक निजी अस्पताल में निधन हो गया। आज …

ज़मानत पर सुनवाई के दिन ही हुआ सामाजिक कार्यकर्ता स्टेन स्वामी का निधन पूरा पढ़ें
niyamgiri girls @ Workers Unity

आदिवासी गांवों की आबादी एक तिहाई हुई कम, सामान्य आबादी की तुलना में तेजी से बढ़ा टीबी

देश में आदिवासी बहुल गांवों की आबादी में 32 फीसदी की कमी आई है। इसके अलावा आदिवासियों में खराब पोषण, धुम्रपान और शराब के कारण फुफ्फुसीय टीबी का प्रसार सामान्य …

आदिवासी गांवों की आबादी एक तिहाई हुई कम, सामान्य आबादी की तुलना में तेजी से बढ़ा टीबी पूरा पढ़ें

गोवा में आदिवासियों की बड़ी जीत, सरकार को पीछे हटने पर किया मज़बूर

गोवा के शेल-मेलावली गांव के आदिवासियों को एक बड़ी जीत मिली है। गांव वाले पिछले कई महीनों से अपनी भूमि पर आईआईटी कैम्पस बनाए जाने का विरोध कर रहे थे। …

गोवा में आदिवासियों की बड़ी जीत, सरकार को पीछे हटने पर किया मज़बूर पूरा पढ़ें
Manrega Bihar rohtas 7

छह महीने से नहीं मिली मज़दूरीः बिहार के मनरेगा मज़दूर कैमरे की नज़र से

By रितिक जावला लॉकडाउन में मज़दूरों पर जो कहर बरपा उसे दिल्ली मुंबई सूरत की सड़कों पर देखा, लेकिन बिहार में रहकर अपनी ज़िंदगी गुज़ारने वाले मनरेगा मज़दूरों का हाल …

छह महीने से नहीं मिली मज़दूरीः बिहार के मनरेगा मज़दूर कैमरे की नज़र से पूरा पढ़ें
kamour bihar village people transportation

कैमरे की नज़र में बिहार में बहार का सच!

By रितिक जावला ये तस्वीर दक्षिणी बिहार के यूपी से सटे ज़िले कैमूर की है, जहां आदिवासी बहुल आबादी रहती है और अभी इस इलाक़े को बाघ संरक्षण क्षेत्र घोषित …

कैमरे की नज़र में बिहार में बहार का सच! पूरा पढ़ें
koya tribal families evicted from their lands

दलित-आदिवासी-मुस्लिम होना पर्याप्त है, जेल जाने और बिना सजा के सड़ने के लिए

By डॉ रामू दलित होना सिर्फ सामाजिक अपमान, उत्पीड़न और अर्थिक वंचना का ही कारण नहीं बनता है, जेल जाने और जेल में सड़ने के लिए भी पर्याप्त वजह है। …

दलित-आदिवासी-मुस्लिम होना पर्याप्त है, जेल जाने और बिना सजा के सड़ने के लिए पूरा पढ़ें
van gujjar uttarakhand