Maruti workers agitated in tau devilal park in march 2017 demanding release of co workers

क्या फ़ैक्ट्री यूनियनें स्थापित ट्रेड यूनियन सेंटरों से नाता तोड़ चुकी हैं?

By अजीत सिंह वर्तमान दौर मज़दूर वर्ग के लिये चुनौतियों का दौर है। मज़दूर आन्दोलनों में आये उतार को स्पष्टता से इस रूप में देखा जा सकता है कि मोदी …

पूरा पढ़ें

भारत के मज़दूर वर्ग को किसका साथ देना चाहिए, इज़रायल का या फ़लस्तीन का?

By आलोक लड्ढा  ऐसे समय में जब दुनिया लगातार दूसरे साल महामारी की चपेट में है, इज़रायल सरकार ने एक बार फिर से कब्ज़ाए गई ज़मीन पर फ़लस्तीनियों के ख़िलाफ़ …

पूरा पढ़ें
satyam auto manesar

सत्यम ऑटो में 12-12 घंटे काम, सिंगल ओवर टाइम, छुट्टी में कटौती बना मज़दूरों के गुस्से का कारण

हरियाणा के मानेसर स्थित सत्यम ऑटो में भले ही मज़दूर 24 घंटे की हड़ताल के बाद काम पर वापस लौट गए हैं और उनके बीच वेतन समझौते पर बात शुरू …

पूरा पढ़ें

ओवरटाइम पर एकमत क्यो नहीं हैं चीन के वर्कर,वाइट कॉलर जॉब वाले ओवरटाइम से परेशान तो मजदूर वर्ग इसका हिमायती क्यों हैं?

ओवरटाइम पर एकमत क्यो नहीं हैं चीन के वर्कर इसी साल टेक्नोलॉजी सेक्टर में एक हाई प्रोफाइल वर्कर की मौत ने चीन में काम करने की जगहों पर ओवरटाइम कल्चर …

पूरा पढ़ें
doctors without gear

कोरोना ने बता दिया है बिना समाजवाद मज़दूरों की जान नहीं बचने वाली, एक ही विकल्प समाजवाद या बर्बरता- नज़रिया

By मुकेश असीम कोविड 19 बीमारी ऐसे वक्त में दुनिया को अपनी चपेट में ले रही है जब 40 साल की नवउदारवादी आर्थिक नीतियों ने एक ओर तो सार्वजनिक स्वास्थ्य …

पूरा पढ़ें
workers at silwasa @Workersunity

मज़दूर वर्ग क्यों नहीं बन पाता इस देश का प्रमुख मुद्दा?

आज के दौर में मजदूर वर्ग की पहचान खतरे में है, मजदूरों की इसी बदतर स्थिति के बारे में प्रो. सरोज गिरी बताते है कि….एक समय था जब जवाहरलाल नेहरू, …

पूरा पढ़ें