कोरोनाख़बरेंप्रमुख ख़बरें

बुश इंडिया के कर्नाटक प्लांट में 62 मज़दूर कोरोना पॉज़िटिव, कंपनी बंद करने को तैयार नहीं

मज़दूरों की शिकायत पर मैनेजमेंट का रुख़ उल्टा, विरोधी मज़दूरों को काम से निकालने की दी धमकी

कर्नाटक के बिदादी के रामनगर में स्थित बुस्च इंडियां (Bosch’s India) प्लांट में 768  में से 62 मज़दूर कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। इसमें से 182 मज़दूर संक्रमितों के संर्पक में आए हैं।

मरीज़ों को बेंगलुरू के निजी अस्तपातल में भर्ती कराया गया है और फैक्ट्री को सैनिटाइज़ कर फिर से शुरू करने का फैसला किया गया है।

घटना 2 जुलाई की बताई जा रही है। 62 मज़दूरों के संक्रमित होने के बाद भी बुश इंडिया प्रबंधन प्लांट को बंद नहीं कर रहा है। मज़दूरों से काम कराना जारी रखा गया है।

एक मज़दूर ने न्यू इंडियन एक्सप्रेस को बताया, “कोरोना के कारण हम लोग काम नहीं करना चाहते हैं। बहुत डर लग रहा है। प्रबंधन प्लांट बंद करने को तैयार नहीं है। हमसे कहा गया है कि सोशल डिस्टेंस रख कर काम करो। पर इसके खिलाफ अगर हम आवाज उठायेंगे तो फैक्ट्री प्रबंधन हमें काम से निकाल देगा।”

मज़दूर ने आगे बताया, “सरकार हमारी कोई मदद नहीं कर रही है। मज़दूर संगठन भी प्रबंधन के साथ मिला हुआ है।”

फ़ैक्ट्रियों में मिल रहे कोरोना पॉज़िटिव

रामनगर ज़िला स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. निरंजन ने अख़बार को बताया कि, “प्लांट  में कुल 48 मज़दूर कोरोना से संक्रमित हैं। इनसे संपर्क में आए लोगों की तलाश की जा रही है। जबतक फैक्ट्री पूरी तरह सैनिटाइज नहीं हो जाता है, तब तक उसे बंद ही रखा जाएगा।”

कंपनी ने अख़बार से संक्रमण की बात स्वीकार की है, “हां फैक्ट्री में मज़दूर संक्रमित पाए गए हैं। नियम के अनुसार उनकी देखभाल की जा रही है। इस घटना की जानकारी जिम्मेदार प्रबंधन को दे दी गई है। फैक्ट्री को सैनिटाइज किया जा रहा है।”

इसके पहले औरंगाबाद के वालुज में स्थित बजाज ऑटो प्लांट 200 मज़दूर कोरोना संक्रमित पाए गए थे और मानेसर में स्थित मारुति सुज़ुकी कार प्लांट के भी 21 मज़दूर कोरोना संक्रमित मिले थे, लेकिन कंपनी को चालू रखा गया था।

24 मई को टीएन लेबर में छपी एक खबर के अनुसार, ‘ऑटो सेक्टर कोरोना के मामलों में अगला हॉटस्पॉट के रूप में उभर रहा है। अब तक, गुड़गांव में मारुति सुज़ुकी प्लांट, मानेसर और एमआरएफ़ पुडुचेरी में ऑटो कंपोनेंट निर्माता कंपनी के मज़दूर इसकी चपेट में आ चुके हैं।

(वर्कर्स यूनिटी स्वतंत्र निष्पक्ष मीडिया के उसूलों को मानता है। आप इसके फ़ेसबुकट्विटर और यूट्यूब को फॉलो कर इसे और मजबूत बना सकते हैं। वर्कर्स यूनिटी के टेलीग्राम चैनल को सब्सक्राइब करने के लिए यहां क्लिक करें।

Tags
Show More

Related Articles

Back to top button
Close
Enable Notifications.    Ok No thanks