कोरोनाख़बरेंप्रमुख ख़बरें

दिल्ली मेट्रो लॉकडाउन का नुकसान कर्मचारियों से वसूलेगा, भत्तों में 50% की कटौती

बेसिक सैलरी का 15.75 % ही दिया जाएगा भत्तों और अन्य सुविधाओं में

लॉकडाउन में हुई नुकसान की भरपाई मज़दूरों और कर्मचारियों से करने में दिल्ली मेट्रो भी पीछे नहीं है।

क़रीब पांच महीने से ठप पड़ी मेट्रो के मैनेजमेंट ने कर्मचारियों की सुविधाओं में आधी तक कटौती की घोषणा की है।

द हिंदू में छपी एक ख़बर अनुसार, दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन (डीएमआरसी) ने कहा है कि, “दिल्ली मेट्रो में काम करने वाले कर्मचारियों को दी जाने वाली सुविधा में से 50 फ़ीसदी कटौती की जाएगी।”

गुरुवार को डीएमआरसी के एमडी मंगू सिंह ने राजीव चौक मेट्रो का निरीक्षण किया लेकिन डीएमआरसी ने अभी ये नहीं बताया कि मेट्रो कबसे चलनी शुरू होगी।

डीएमआरसी के द्वारा जारी आदेश में कहा गया है कि अगले आदेश तक ये कटौती अगस्त की सैलरी के साथ लागू रहेगा और भत्ता एवं अन्य सुविधाएं कर्मचारियों के बेसिक वेतन का केवल 15.75 फ़ीसदी ही दिया जाएगा।

Delhi Metro allowances cut

लॉकडाउन से 1000 करोड़ का नुकसान

डीएमआरसी के अनुसार, “कोरोना के कारण मेट्रो भयंकर आर्थिक तंगी से गुजर रही है। जिसके बाद ही भत्तों में कटौती का फैसला किया गया है। ये कटौती अगस्त 2020 से चालू हो जाएगी।”

घर बनाने के लिए एडवांस, अन्य ज़रूरतों के लिए एडवांस, लैपटाप एडवांस जैसी सुविधाएं देने पर फिलहाल रोक रहेगी।

इलाज के लिए ज़रूरी एडवांस, टीए, डीए और कंपोज़िट ट्रांसफ़र ग्रांट की सुविधाएं जारी रहेंगी।

मनी कंट्रोल में 28 जुलाई 2020 को छपी खबर के अनुसार डीएमआरसी को रोजाना 10 करोड़ रुपये की कमाई होती थी। लेकिन कोरोना के कारण हुए लॉकडाउन से 1,000 करोड़ रुपये का नुकसान झेलना पड़ा है।

जिसकी वसूली अब कर्मचारियों की सुविधाएं काट कर की जाएगी।

Metro coach

किराया बढ़ाने के बाद भी घाटा

डीएमआरसी पिछले कुछ सालों में दिल्ली सरकार और केंद्र की मोदी सरकार के बीच तकरार के कारण विवादों में रहा, जब मेट्रो के किराए में भारी बढ़ोत्तरी की घोषणा की गई थी।

तीन साल पहले डीएमआरसी ने मेट्रो किराए में 66 प्रतिशत तक की भारी बढ़ोत्तरी कर दी थी जिसकी वजह से मेट्रो यात्रियों की संख्या में भारी कमी भी देखी गई, क्योंकि डीटीसी का किराया इससे कहीं सस्ता था।

तीन साल तक क़रीब क़रीब दो गुना किराया वसूलने के बाद भी मेट्रो का घाटा कम नहीं हुआ और मोदी के मनमाने लॉकडाउन ने मेट्रो का भठ्ठा बैठा दिया है लेकिन इसे लेकर डीएमआरसी के पास कोई जवाब नहीं है कि अनलॉक शुरू होने और डीटीसी की बसें चलने के बावजूद मेट्रो अभी तक क्यों नहीं चली।

(वर्कर्स यूनिटी स्वतंत्र निष्पक्ष मीडिया के उसूलों को मानता है। आप इसके फ़ेसबुकट्विटर और यूट्यूब को फॉलो कर इसे और मजबूत बना सकते हैं। वर्कर्स यूनिटी के टेलीग्राम चैनल को सब्सक्राइब करने के लिए यहां क्लिक करें।)

Tags
Show More

Related Articles

Back to top button
Close
Enable Notifications    OK No thanks