कोरोनाख़बरेंप्रमुख ख़बरेंमेहनतकश वर्ग

उत्तराखंड: बेरोजगारी से तंग आकर बाइक टैक्सी चालक नैनी झील में कूदा

लॉकडाउन के बाद काम ठप होने से घर में है फांके की नौबत, भुट्टे बेचकर खरीदी थी बाइक

लॉकडाउन के बाद छिने रोजगार से आज एक युवक की जान पर बन आई। सरोवरनगरी के नाम से मशहूर नैनीताल में बाइक टैक्सी चालक ने बेरोजगारी से तंग आकर आत्महत्या के इरादे से नैनी झील में छलांग लगा दी। गनीमत रही कि स्थानीय लोगों ने देख लिया और उसे बचा लिया गया।

स्थानीय पत्रकारों से मिली जानकारी के अनुसार घटना आज 12 अगस्त को शाम हुई। शाम छह बजकर दस मिनट पर तल्लीताल की चीता मोबाइल को दर्शनघर पार्क में एक व्यक्ति के झील में कूदने की सूचना मिली।

तल्लीताल थाना प्रभारी विजय मेहता, सीओ विजय थापा, चीता मोबाइल के वरिष्ठ आरक्षी शिवराज राणा एवं सुरेंद्र धामी आदि मौके पर पहुंचे। उस वक्त स्थानीय लोग झील में छलांग लगाने वाले युवक को निकालने की कोशिश कर रहे थे।

पुलिस के पहुंचने के बाद उसे लकड़ी की जैटी के पास से झील से बाहर निकाल लिया। युवक की पहचान 40 वर्षीय आसिम पुत्र अनीस निवासी बूचडख़ाना तल्लीताल के रूप में हुई। घर में पत्नी के अलावा दो बच्चे हैं।

बताया जा रहा है कि आसिम भुट्टे बेचकर परिवार का खर्च चलाता था। कुछ पैसे जमा करके उसने बाइक खरीदी और पर्यटकों के लिए बाइक टैक्सी चलाने लगा।

बीते दिनों लॉकडाउन की वजह से काम ठप हो गया, पर्यटक भी नहीं आए। बेरोजगार के चलते घर में फांकाकशी होने लगी तो उसने जान देने की ठान ली और झील में छलांग लगा दी।

यहां बता दें, उत्तराखंड से बीते दिनों दर्जनभर युवाओं के आत्महत्या करने की घटनाएं होने की खबरें आ चुकी हैं।

तमाम ऐसे युवा हैं, जो किसी महानगर में प्राइवेट नौकरी करते थे और लॉकडाउन में सबकुछ गंवाकर पहाड़ की दुश्वारियों में लौटने को मजबूर हुए हैं, अब वे बेरोजगारी का शिकार हैं।

(मुख्य तस्वीर पत्रकार चंद्रशेखर जोशी की फेसबुक वॉल से और तथ्य नवीन समाचार वेबसाइट से साभार)

(वर्कर्स यूनिटी स्वतंत्र निष्पक्ष मीडिया के उसूलों को मानता है। आप इसके फ़ेसबुकट्विटर और यूट्यूब को फॉलो कर इसे और मजबूत बना सकते हैं। वर्कर्स यूनिटी के टेलीग्राम चैनल को सब्सक्राइब करने के लिए यहां क्लिक करें।)

Show More

Related Articles

Back to top button
Close
Enable Notifications    OK No thanks