महिला कामगारों के लिए बद से बदतर होती परिस्थितियां

 By हेमंत कुमार झा पिछले वर्ष, या शायद उससे पिछले वर्ष निजी क्षेत्र में कार्यरत एक महिला सिक्योरिटी गार्ड के इसलिये मर जाने की खबर अखबारों में आई थी, क्योंकि …

पूरा पढ़ें
cotton mill mumbai

बोनस के हक़ के लिए 60 दिनों तक चली सूती मिल मज़दूरों की हड़तालः इतिहास के झरोखे से-3

By सुकोमल सेन टाटा आइरन एंड स्टील वर्क्स, जमशेदपुर में गंभीर हड़ताल होने के मात्र दो वर्ष बाद उसी उद्योग में एक और बड़ी हड़ताल सितंबर 1922 में हुई। लोहा …

पूरा पढ़ें

जब 12 घंटे काम के नियम के ख़िलाफ़ मज़दूरों ने 3 साल तक गोरों की नाक में दम कर दियाः इतिहास के झरोखे से-2

 By सुकोमल सेन सन् 1903 में मद्रास गवर्नमेंट प्रेस में मजदूरों को ओवर टाइम का भुगतान न करने पर प्रेस और मशीन विभाग के मजदूरों ने हड़ताल कर दी। यह …

पूरा पढ़ें

अंग्रेज़ों के ख़िलाफ़ 1907 की वो रेल हड़ताल जब कोई भी ट्रेन स्टेशन तक नहीं पहुंचीः इतिहास के झरोखे से-1

By सुकोमल सेन मजदूरों की आर्थिक स्थितियों में निरंतर हो रहे ह्रस और काम का बोझ (बर्क लोड) बढ़ाकर शोषण में की जा रही वृद्धि ने विभिन्न स्थानों के रेलेव …

पूरा पढ़ें
Neemrana Japani Zone

जापानी औद्योगिक क्षेत्र के मज़दूरों का अवैध छंटनी के ख़िलाफ़ हस्ताक्षर अभियान

राजस्थान के निमराना में स्थित जापानी औद्योगिक क्षेत्र में मज़दूरों के साथ बढ़ते अत्याचार के ख़िलाफ़ आवाज़ को बुलंद करते हुए मज़दूरों ने जापानी औद्योगिक इलाके के अनंतराज सोसाइटी के …

पूरा पढ़ें
Ambedkar Ganguli hostel Delhi

अंबेडकर गांगुली गर्ल्स हॉस्टल में 10-10 साल से काम कर रहे सफ़ाई कर्मचारियों को निकाला

By खुशबू सिंह बीते दिनों एक खबर सामने आई थी कि, अंबेडकर गांगुली स्टुडेंट्स हाउस फ़ॉर वुमन हॉस्टल के सफ़ाई कर्मचारियों, माली, बस ड्राइवर्स और सिक्योरिटी गार्ड सहित अन्य कर्मचारियों …

पूरा पढ़ें

जेल की बैरकों जैसे वर्कर हॉस्टल, महिला हॉस्टल में 8 बजे के बाद जड़ दिया जाता है ताला

By खुशबू सिंह पूंजीवाद अब जहां पहुंच गया है, वहां उसके शब्दकोश से मज़दूर रिहाईश का शब्द लगभग ग़ायब हो चुका है। हालांकि पहले भी नहीं था और सिर्फ नाममात्र …

पूरा पढ़ें
Women worker neemrana daikin

‘लॉकडाउन में कंपनी ने निकाला, अब काम के बहाने यौन शोषण करना चाहते हैं ठेकेदार’

By खुशबू सिंह “काम के लिए मैंने कई कंपनियों और ठेकेदारों से संपर्क किया लेकिन किसी ने काम तो नहीं दिया। पर आधी रात को फ़ोन कर के परेशान ज़रूर …

पूरा पढ़ें

सात साल से काम कर रहे मज़दूर को किरण इंटरप्राइजेज ने निकाला, कहा ठेका मज़दूरों से कराएंगे काम

By खुशबू सिंह देश की आर्थिक राजधानी मुबंई, के गोरेगांव में स्थित किरन इंटरप्राइजेज में काम करने वाले एंथनी डीकोस्टा को कंपनी ने जनवरी का वेतन दिए बिना ही काम …

पूरा पढ़ें
interarch sidkul uttarakhand

उत्तराखंड सिडकुल में मज़दूरों ने संयुक्त मोर्चा बना संघर्ष के लिए कमर कसी

लॉकडाउन के बाद से खुली फैक्ट्रियों में मज़दूरों को अब बेधड़क निकाला जा रहा है। कहीं उनका वेतन काटा जा रहा है तो, कहीं काम से बिना नोटिस निकाला जा …

पूरा पढ़ें